पुलिस

छत्तीसगढ़ में पुलिस बल को, अपराधों की रोकथाम तथा अनुसन्धान एवं जनादेश को बनाए रखने की जिम्मेदारी सौंपी गई है | भारत के संविधान के अनुच्छेद २४६ के अनुसार पुलिस विभाग को राज्यों के अधीन किया गया है, जिसका अर्थ है कि प्रत्येक पुलिस बल पर शासन करने के लिए नियम व अधिनियम तैयार करने का कार्य राज्य शासन का है |

प्रदेश छत्तीसगढ़ प्रदेश पुलिस बल के पुलिस नियम पुस्तक (पुलिस मैनुअल) में ये नियम व अधिनियम उपलब्ध हैं | प्रदेश में पुलिस बल के प्रधान महानिदेशक/महानिरीक्षक होते हैं | छत्तीसगढ़ प्रदेश को सुविधाजनक क्षेत्रीय भागो में बाँटा गया है जिसे रेंज कहा जाता है एवं प्रत्येक पुलिस रेंज उप पुलिस महानिदेशक के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन आता है | कई जिले मिलकर एक रेंज कहलाता है | जिला पुलिस कई उप मंडल में विभक्त होते हैं जैसे पुलिस मंडल, परिमंडल एवं पुलिस थाना |

सिविल पुलिस के अलावा राज्यों के अपने स्वयं के अन्य सशस्त्र पुलिस बल, गुप्तचर शाखाएँ एवं क्राइम ब्रांच आदि होते है |